सिल्ली उपचुनाव : बीजेपी और आजसू के बड़े नेता के बीच दूरी बरक़रार


सिल्ली : सिल्ली उपचुनाव पर राज्य भर की निगाहे टिकी हैं. सिल्ली में कहने को तो आजसू और बीजेपी का गठबंधन है, पर चुनावी मैदान में दोनों नेताओं के बीच दूरी बरक़रार है.

सिल्ली और गोमिया के चुनावी दंगल में जब विपक्षी कुनबा एकजुट नजर आ रहा है, तब सिल्ली में बीजेपी को आजसू के बुलावे का इंतजार है. अब तक बीजेपी और आजसू के बड़े नेता के बीच दूरी बरक़रार है और ये कब और कहां एक साथ नजर आयेंगे, ये कहना मुश्किल है. बीजेपी प्रदेश कार्यालय को भी सिल्ली में आजसू और बीजेपी नेताओं के साझा चुनाव अभियान कार्यक्रम का बेसब्री से इंतजार है.

रमजान का महिना शुरू, सहरी और इफ्तारी के सामान से सजा बाजार

 उपचुनाव को लेकर राजनीति समय के साथ अपने पूरे परवान पर है. राज्य में बीजेपी और आजसू का गठबंधन भले ही हो, पर गोमिया में दोनों एक दूसरे के सामने हैं. सिल्ली में साथ होने के बावजूद बीजेपी के बड़े नेता या सीएम रघुवर दास के चुनाव प्रचार पर अभी संशय बरकरार है. वहीं आजसू के नेता भी बीजेपी को साथ लाने के लिये बहुत ज्यादा उतावले नहीं नजर आ रहे हैं.

धनबाद : हेलो में नापतोल से बोल रहा हूं! कह ठगी करते थे ये लोग, हुए गिरफ्तार

सिल्ली और गोमिया उपचुनाव में बीजेपी और आजसू की दोस्ती भी दांव पर लग गई है. दोनों सीट पर NDA की जीत से ये राजनीतिक दोस्ती आगे बढ़ेगी और अगर ऐसा नहीं हो सका, तो जो होगा वो प्रदेश की राजनीति को नई दिशा देगा.


ये भी पढ़ें...

रांची : सीएम की समीक्षा बैठक, कहा- 2018 तक सभी घरों में बिजली

सीएम रघुवर की दो टूक, कहा- बैंक गरीबों की पूरी तरह से सहयोग नहीं कर रहा है

सीएम रघुवर की दो टूक, कहा- बैंक गरीबों की पूरी तरह से सहयोग नहीं कर रहा है