हाल गिरिडीह के सदर अस्पताल का : फिर एक प्रसुता की मौत, पहुंची एसडीएम, जांच शुरू      

सदरगिरिडीह : ‘मर्ज बढ़ता ही गया ज्यों-ज्यों दी दवा’ वाली कहावत इन दिनों सदर अस्पताल में पर सटीक बैठती है. अस्पताल की लचर व्यवस्था को दुरूस्त करने के लिए सरकार व जिला प्रशासन हरसंभव प्रयास कर रही है. इसके बावजूद स्थिति सुधरने के बजाय और बिगड़ती ही जा रही है. पिछले तीन दिनों के अंदर दो प्रसुता की मौत अस्पताल की कुव्यवस्था को बयान कर रही है. प्रसव के बाद महिला की मौत ने अस्पताल पर सवाल खड़ा कर दिया है. बताया जाता है कि शनिवार देर रात बेंगाबाद के खुरचुट्टा निवासी रामू तुरी की पत्नी रूबी देवी को प्रसव के लिए सदर अस्पताल में लाया गया. अस्पताल पहुंचते ही रूबी को सामान्य तरीके से एक लड़की को जन्म दिया. परिजनों की माने तो रूबी की हालत प्रसव के बाद ठीक थी. रविवार सुबह करीब 10 बजे रूबी की मौत हो गयी. मौत के बाद परिजन चिकित्सक व अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा किया. सूचना पाकर अनुमंडल पदाधिकारी विजया जाधव व रेड क्रॉस के सचिव राकेश मोदी मौके पर पहुंच कर परिजनों व सिविल सर्जन से मामले की जानकारी ली. एसडीएम के समक्ष परिजनों ने चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाया और न्याय की गुहार लगाई.

मेडिकल बोर्ड की मौजूदगी में रूबी का हुआ पोस्टमार्टम

परिजनों की मांग पर सिविल सर्जन डॉ रामरेखा प्रसाद मामले की जांच के लिए एक मेडिलक बोर्ड की गठन किया. मेडिकल टीम की मौजूदगी में मृतका का पोस्टमार्टम कराया गया. जहां एक ओर परिजन रूबी की मौत के लिए अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं वहीं दूसरी ओर सिविल सर्जन व अन्य चिकित्सकों की माने तो रूबी की मौत बीमारी के कारण हुई है. बहरहाल, मौत कैसे हुई यह तो जांच रिपोर्ट के बाद ही पता चल पायेगा.




तीन दिनों के अंदर दो प्रसुता की मौत

सदर अस्पताल में पिछले तीन दिनों के अंदर प्रसव के लिए आने वाली दो प्रसुता की मौत शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है. अस्पताल में सभी तरह की सुविधा होने के बावजूद अचानक मौत ने कई सवाल खड़े कर दिये हैं. तीन दिन पूर्व अनिता देवी की मौत खून की कमी के कारण बताया जा रहा था. इस मामले को लेकर काफी हो-हंगामा भी हुआ था. उसके परिजनों का कहना है कि अस्पताल परिसर में ही ब्लड बैंक है. अगर अनिता की मौत वास्तव में खून की कमी के कारण हुई तो उसे खून क्यों नहीं चढ़ाया गया. वहीं रूबी की मौत भी लोगों के समझ से परे है. परिजन व आम लोग भी दोनों मौत के मामलों की जांच कर दोषियों के विरूद्ध कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat