सरकारी शराब दुकान में नियमों की अनदेखी, नहीं दी जाती है शराब की रशीद

Slip not given government liquor storeदुमका : शहर में सरकारी शराब दुकानदार सरकार की सारी नियमों को ताख पर रखकर शराब बेच रहे हैं. सरकारी शराब दुकान में जब ग्राहक शराब खरीदते हैं तो उन्हें शराब की रसीद नहीं दी जाती है और अगर कोई ग्राहक शराब की रशीद मांगते भी हैं तो उन्हें रसीद तो दी जाती है लेकिन रसीद में ना कोई रजिस्टेशन नंबर होता है और ना ही मुहर. बस सिर्फ नाम लिखकर रसीद थमा दिया जाता है. जबकि रसीद भी एक दिन में कम कटे होते हैं.




सरकार के नियम के अनुसार शराब खरीदने वाले ग्राहक को वाजिब रसीद देना अनिवार्य है. रसीद में ना सीरियल नम्बर होता है और ना ही अपने से रशीद दुकानदार देते हैं. जबकि शहर में सरकारी दो शराब दुकान है और यहां शराब की अच्छी बिक्री होती है, लेकिन उसका हिसाब नहीं होता है. जब हमने शराब दुकानदार से रसीद को लेकर सवाल किया तो उसका जबाब भी टाल मटोल का था. वहीं शराब खरीदने आये ग्राहकों ने रसीद नहीं देने की बात बताई. ऐसे में सवाल उठता है कि अगर शराब पिने से किसी के साथ अनहोनी हो जाय तो इसका जबाबदेही कौन होगा. जबकि शराब खरीदने को लेकर सरकार ने कई नियम बनाए हैं.

मधु कोड़ा के घर गूंजी किलकारियां, दो बेटियों के बाद अब बने बेटे के पिता





Loading...
WhatsApp chat Live Chat