लोहरदगा: 38 लाख में लगे सोलर प्लेट्स बेकार, सदर अस्पताल में मरीज परेशान

solar plates in sadar hopsital useless लोहरदगा: सदर अस्पताल में इलाज कराने पहुंच रहे मरीजों व उनके परिजनों को गर्मी से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. शहर में विद्युत की लचर व्यवस्था के कारण अस्पताल के अंदर गर्मी में घंटो लाइन में खड़े होकर मरीज इलाज कराने को मजबूर है.

देवघर: बेटी हुई पैदा, तो नाराज पिता ने गला घोंट कर दी दुधमुंही की हत्या

यूं तो अस्पताल के अंदर पंखे लगे हुए है परंतु वे सिर्फ बिजली रहते ही चलते है. पॉवर कट के बाद मरीज गर्मी से त्रस्त हो जाते है. कुछ माह पूर्व सदर अस्पताल में झारखंड सरकार ने झारखंड नवीकरणीय उर्जा विभाग की ओर से सोलर प्लेट लगाने का कार्य किया जा चुका है. जिसके तहत लोहरदगा सदर अस्पताल में उजास एनर्जी लिमिटेड के द्वारा लगभग 38 लाख रूपये की लागत से सोलर प्लेट लगाने का कार्य पूर्ण हो चुका है. अस्पताल के भवन के उपर लगे 90 सोलर प्लेट के माध्यम से अस्पताल में 30 केवीए की क्षमता वाले सोलर प्लेट लगाएं जा चुके है. जिससे अस्पताल में मरीजों को 24 घंटे बिजली मिल सके इसके बावजूद 24 घंटे बिजली की सुविधा नहीं मिल रही है और मरीजों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है.




रांची: अब डेंगू, टीबी और मलेरिया होने पर तुरंत करें सरकार को सूचित, वर्ना जाना पड़ेगा जेल

मामले पर अस्पताल मैनेजर मो सहनवाज ने बताया कि इसकी जानकारी उन्हें मिली है. जिस पर उन्होंने कंपनी के इंजीनियर से बात कर समस्या का सामाधान कराया जाएगा. कहा कि सोलर प्लेट लगने के बाद कुछ दिन ठीक ठाक चला जिसके बाद से टेक्निकल समस्या के कारण मशीन गर्म हो जा रही है और सोलर उचित मात्रा में उर्जा नहीं दे पा रहा है. इसके अलावे सदर अस्पताल में बढ़ती गर्मी को देखते हुए मरीजों की सुविधा के लिए एक वार्ड में एसी भी लगाए गए है परंतु वह अभी तक चालू नहीं किया गया है. मरीजों के परिजनों का कहना है कि अस्पताल के अंदर साफ सफाई ठीक नहीं रहने के कारण भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.





WhatsApp chat Live Chat