NEWS11

विधानसभा चुनाव से पहले वामदलों का रुख साफ़

रांची: प्रदेश की राजनीति ने विधानसभा चुनाव से पहले ही टूल पकड़ ली है. चुनाव से पहले ही वामदलों ने अपना रुख साफ कर दिया है. दलों का सीधा कहना है कि सम्मानजनक समझौता होता है तो ठीक है,  नहीं तो 50 सीटों पर लेफ्ट पार्टियां उम्मीदवार खड़ा करेंगी.  हालांकि, कांग्रेस का कहना है कि, वामदलों को पहले अपना जनाधार देख लेना चाहिए. 
 
16 जुलाई को संयुक्त रूप से वाम दलों की बैठक हुई, जिसमें 50 सीटों पर चुनाव लड़ने पर सहमति बनी है.  महागठबंधन के सवाल पर निर्णय हुआ कि, सम्मानजनक सीटें मिलने पर ही बातचीत आगे बढ़ेगी.  हालांकि, राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि, लेफ्ट पार्टियों ने महागठबंधन पर दबाव बनाने की कवायद के तहत बैठक की है.  भाकपा माले के राज्य सचिव कहते हैं की बैठक के माध्यम से वामदलों की एकजुटता प्रदर्शित की गई.  इसके पीछे कहीं भी राजनीतिक दबाव बनाने का उद्देश्य नहीं था. 
वामदलों की बैठक पर झामुमो कांग्रेस समेत अन्य दलों की निगाहें थी. कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश गुप्ता कहते हैं कि, भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए राजनीतिक महत्वाकांक्षा को पीछे रखने की आवश्यकता है. जहां तक वाम दलों को सीटें देने का सवाल है तो इसके लिए जमीनी आधार को देखना जरूरी है.
लोकसभा चुनाव के दौरान वामदलों ने अलग-अलग चुनाव लड़ा था.  इस बार विधानसभा चुनाव में लेफ्ट पार्टियों ने संयुक्त रूप से चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है.  साथ ही महागठबंधन को यह संदेश देने की कोशिश भी की है कि, अगर समझौता नहीं होता है तो वाम दल अकेले मैदान में जाने के लिए तैयार हैं. 

Related posts

“जदयू का चुनाव चिन्‍ह फ्रीज किया जाना झामुमो की बड़ी जीत”

Rajesh

कवि सम्मेलन आयोजित कर सुरभी एवं साहित्य गन्धा ने कवियों को किया सम्मानित

Pawan

राजद ने मनाई बीपी मंडल की जयंती, कहा- उनकी ही देन है पिछड़ों को मिलने वाला 27%  आरक्षण

Rajesh

फर्जी ऑडिशन लेने के नाम पर धनबाद बिग बाजार में हंगामा (देखें वीडियो)

Pawan

जदयू का चुनाव चिन्‍ह फ्रीज, झामुमो के खिलाफ जेडीयू ने खोला मोर्चा

Rajesh

धनबाद भारतीय युवा सेवा वाहिनी ने किया पौधरोपण, धनबाद से “ग्रीन धनबाद” होने तक जारी रहेगी मुहीम

Pawan
WhatsApp chat Live Chat