कस्तूरबा आवासीय विद्यालय के छात्राओं ने लगाई गुहार, सर हम लोग पढ़ाई करें या फिर स्कूल का काम

बिशुनपुर (गुमला) : प्रखंड मुख्यालय स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में पिछले एक सप्ताह से बिजली एवं पानी की आपूर्ति नहीं होने के कारण विद्यालय की बच्चियां मजबूर होकर सोमवार की सुबह बाल्टी लेकर सड़क पर उतर गई. और बिजली दो पानी दो के नारे लगाते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी उदय कुमार सिन्हा के आवास पर पहुंच गई. बच्चियों ने बताया कि हम लोगों के स्कूल में पिछले एक सप्ताह से बिजली एवं पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही है. जिस कारण हम लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

कई दिनों से नहीं नहाए हैं बच्‍ची

बच्चों ने बताया कि विद्यालय में पानी नहीं होने के कारण शौच के लिए मजबूरन हम लोगों को बाहर जंगलों में शौचालय जाना पड़ रहा है. इससे हमेशा हम लोगों को डर बना रहता है. साथ ही हम लोग कई दिनों से नहीं नहाए है, और ना ही कपड़ा धुले हैं. पीने के लिए किसी प्रकार बाहर से पानी लाकर काम चला रहे हैं.

मीनू के आधार पर नहीं मिलता है खाना

वहीं छात्राओं ने बताया कि विद्यालय में पानी बिजली के अलावा और कई समस्याएं हैं. जिसको सुनने वाला या देखने वाला कोई नहीं है.हमें नाश्ता भी ढंग से नहीं मिलता है. मीनू के आधार पर कभी भोजन मिलता ही नहीं है. साथ ही अभी तक आठवीं कक्षा का पुस्तक भी नहीं मिला है, जबकि आठवीं में ही बोर्ड का एग्जाम होना है.

शिकायत करने पर मिलती है डांट

पानी एवं बिजली की समस्याओं से परेशान कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय की बच्चियों ने सोमवार को प्रखंड विकास पदाधिकारी उदय कुमार सिन्हा के आवास पहुंची जहां उन्होंने बताया कि किसी भी प्रकार की समस्या को किसी भी पदाधिकारी या विद्यालय से बाहर के लोगों को बताने पर स्कूल में हमलोगों को शिक्षिकाओं द्वारा डांट दी जाती है. जिस कारण डर कर हम लोग कभी अपना मुंह खोल नहीं पाते हैं. यही नहीं विद्यालय का सारा काम हम बच्चियों को ही करना पड़ता है. जिससे हम लोगों की पढ़ाई भी बाधित होती है. सर हम लोग पढ़ाई करें या फिर स्कूल का काम.




बीडीओ ने बच्चियों को लगाई फटकार

पानी बिजली एवं अन्य सुविधाओं के अभाव से तंग आकर कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय की बच्चियों ने सोमवार को हाथों में बाल्टी लिए बहुत उम्मीद के साथ प्रखंड विकास पदाधिकारी के आवास पहुंची. जहां बीडीओ ने बच्चियों को जमकर फटकार लगाया और कहा कि कैसे तुम लोग स्कूल से निकल कर मेरे पास आ गई. सभी लोगों पर कार्रवाई की जाएगी.

हम अपनी पढ़ाई छोड़ देंगे पर अब नहीं करेंगे शिकायत

बच्चियों ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि सर हम लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. जिस कारण बहुत उम्मीद के साथ हमलोग प्रखंड विकास पदाधिकारी के पास आए थे कि हमलोगों के समस्या का समाधान हो जाएगा. परंतु यहां भी हम लोगों को फटकार मिल रही है. अब हम भले पढ़ाई छोड़ देंगे परंतु अपनी समस्या का शिकायत किसी भी अधिकारी के समक्ष नहीं करेंगे.


बिहटा : चार युवकों ने 9 वर्षीय मासूम के साथ किया अप्राकृतिक यौनाचार, वीडियो वायरल

वार्डन से पूछा जाएगा स्पष्टीकरण : बीडीओ

इस संबंध में प्रखंड विकास पदाधिकारी उदय कुमार सिन्हा ने कहा कि विद्यालय में एक सप्ताह से पानी और बिजली नहीं रहना घोर लापरवाही है और वार्डन के जनकारी दिये बिना बच्ची का निकल जाना, काफी गंभीर मामला है. इसके लिए वार्डन से स्पष्टीकरण पूछा जाएगा. साथ ही उन्होंने कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल विद्यालय में पानी एवं बिजली की वैकल्पिक व्यवस्था की गई है, ताकि बच्चों को कोई परेशानी ना हो.



Loading...
WhatsApp chat Live Chat