रांची : अपने ही मां-बाप से जान बचाकर भागी लड़की, थाने पहुंच लगाई गुहार

रांची : सदर थाना क्षेत्र में एक लड़की के प्रेम प्रसंग का मामला सामने आया है. जिसमें लड़की के मां-बाप ने उसके सात महीने के बच्चे को गिराने का प्रयास किया. अपनी और अपने गर्भ में पल रहे सात माह के बच्चे की जान बचाने के लिए भागते हुए लड़की सदर थाना जा पहुंची और पुलिस से अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई.

अपने पेट में पल रहे नन्ही सी जान को बचाने के लिए सोमवार की शाम शामली नाम की एक लड़की सदर थाना पहुंची और पुलिस से अपनी जान बचाने की गुहार लगाने लगायी. लड़की ने पुलिस को बताया कि वह सात महीने की प्रेगनेंट है. यह बात जानते ही उसकी मां-बाप उसके साथ मारपीट करने लगे और बच्चा गिराने के लिए उसे जबरन अस्पताल ले जाने की कोशिश भी की. पर लड़की अपने बच्चे की जान बचाने के लिए भागकर पुलिस थाने पहुंच गई. सदर थाना प्रभारी दयानद ने मामले को गंभीरता से लेते हुए युवती को नारी निकेतन के हवाले कर दिया. साथ ही पुलिस मामले की जांच-पड़ताल में जुट गई. लड़की को नामकुम के आश्रय में रखा गया है




नारी निकेतन से अब यह मामला महिला आयोग की निगरानी में है. मामले की जांच करते हुए महिला आयोग ने लड़की के घर वाले से बातचीत की. उसके मां-बाप ने लड़की को अपनाने से साफ इंकार कर दिया है. लड़की की मां ने यह साफ कह दिया है कि उसे लड़की के पेट में पल रहे बच्चे से कोई ताल्लुक नहीं रखना है. उसकी बेटी उनके परिवार के लिए अब मर चुकी है.

वहीं दूसरी तरफ महिला आयोग से बातचीत के दौरान लड़की ने बताया कि 2 साल से मोहल्ले के एक लड़के के साथ उसका प्रेम-प्रसंग चल रहा था. वह उस लड़के से शादी करना चाहती है पर मां-बाप जातिवाद के कारण उनका विवाह नहीं करवा रहे.

लड़की के माता-पिता से बात करने के बाद महिला आयोग लड़के से बात कर मामले की जांच कर रही है.  जेजेडी अध्यक्ष कल्याणी शरण ने बताया कि लड़की की पूरी तहकीकात करने के बाद ही वह लड़की की शादी उसके प्रेमी से करवाएगी. तब तक लड़की आश्रय में सुरक्षित है.



Loading...
WhatsApp chat Live Chat