NEWS11

भूख से मौत के कगार पर लगभग पहुंच चुके मुनिलाल का एक ही सवाल- मुझे चावल कब मिलेगा ?

मुनिलाल

बाघमारा (धनबाद) : लातेहार के रामचरण मुंडा की मौत के बाद अब भूख का अगला शिकार बाघमारा में देखने को मिल सकता है. जीवन के अंतिम पायदान पर आये एक बुजुर्ग सिस्टम की भेंट चढ़ चुका है. लगभग दो वर्षों से वह सरकारी राशन से वंचित है.

वो कदमों की आहट से मचल उठता है और ढूंढने लगता है अपना फटा पुराना थैला. अपने आशियाने के समीप आनेवाले सभी को पूछता है मात्र एक सवाल- मुझे चावल कब मिलेगा? वो शक्स है बाघमारा अंतर्गत अंगारपथरा लोडिंग धौड़ा निवासी 85 वर्षीय मुनिलाल यादव. उसके एक सवाल का जबाब संबंधित किसी के पास नहीं है. हालांकि राशन नहीं मिलने का कोई कारण सामने नहीं आ पाया है.

हमे जानकारी मिली वहीं के समाजसेवी दो महिलाओं से. साथ ही यह आग्रह किया गया कि इसके दर्द की आवाज को सूबे के मुखिया के पास पहुचाया जाए.

कभी-कभार आसपास के लोग दे देते हैं खाना

हम जब उसके पास पहुंचे तब हमारा भी दिल दहल गया. आंख और कान से पूरी तरह लाचार, अपने दबे आवाज के मुनिलाल ने कहा कि जबसे हम अक्षम हुए हैं, पीडीएस दुकान किसी और को भेजते हैं तो उसे भी दुकानदार राशन नहीं देता है. इसलिए हम भूखे रहने को मजबूर हैं. कभी-कभार आस पास के लोग खाना दे देते हैं, उसी से गुजारा चलता है. यहां तक कि उसका घर भी क्षतिग्रस्त हो चुका है, जिस कारण वह पड़ोसियों के रहमोकरम पर गाय रखलेवाले घर में रह रहा है।

बहरहाल राशन नहीं मिलने का कोई कारण हो, पर यह तो तय है कि भूख उसे भी लगती है, जिसका जिम्मेदार तंत्र और उसमें शामिल लोग हैं.

अधिकारियों का जवाब संतोषजनक नहीं

इस बाबत बाघमारा बीस सूत्री उपाध्यक्ष गुरमीत सिंह को सूचित किया गया. भुक्तभोगी मुनिलाल के घर पहुंचकर हकीकत की जांच की. साथ ही बाघमारा एमओ सहित कई अधिकारियों को भी सूचना दी. पर नतीजा कुछ भी नहीं निकला. गुरमीत सिंह की माने तो अधिकारियों का जबाब भी संतोषजनक नहीं मिला. उन्होंने कहा कि जिस अवस्था मे मुनिलाल हैं, इसे स्थानीय जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों को पहल कर राशन मिलने में आई समस्या का समाधान करना ही चाहिए. हालांकि भुक्तभोगी को यह आश्वाशन दिया गया है कि अविलम्ब समाधान कर राशन मिलना सुचारू करवाया जाएगा.

Related posts

‘पलामू के इशकजादे’ जान हथेली में रख कर रहे प्यार…

Sumeet Roy

संथाल परगना के पांच दिवसीय दौरे के तीसरे दिन राज्यपाल पहुंची जामताड़ा

Sumeet Roy

जल शक्ति अभियान में धनबाद को देश में तीसरा स्थान, DC को कैबिनेट सचिव का आमंत्रण

Sumeet Roy

चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट से फिलहाल नहीं मिली राहत, अब सीजेआई गोगोई करेंगे सुनवाई

Sumeet Roy

चलंत शुल्क के नाम पर मनमानी वसूली से परेशान हैं पाकुड़ के सब्जी विक्रेता, शुल्क निरस्त करने की है मांग

Sumeet Roy

पाकुड़ : प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत सैकड़ो महिला लाभुको को मिला गैस चुल्हा और सिलिण्डर

Sumeet Roy
WhatsApp chat Live Chat