सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का खुलासा, विस्थापित नेता सहित तीन गिरफ्तार

बोकारो : बोकारो स्टील रेलवे सहित भारत सरकार के कई विभागों में नौकरी दिलाने के नाम पर  विस्थापित नेता राजेंद्र महतो सहित कई लोगों को  नकली नियोजन पत्र मेडिकल सर्टिफिकेट के साथ अन्य दस्तावेज भी बरामद किया गया. बोकारो इस्पात संयंत्र एवं रेलवे में सरकारी नौकरी  दिलाने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी करने वाले गिरोह का खुलासा करने में बोकारो पुलिस ने महत्वपूर्ण सफलता प्राप्त की है.

बोकारो पुलिस कप्तान कार्तिक एस. ने बताया कि गोरखपुर निवासी उपेंद्र कुमार श्रीवास्तव के बेटे गौरव कुमार श्रीवास्तव को बोकारो स्टील प्लांट में नौकरी दिलाने के नाम पर छह लाख रुपए की ठगी संबंधी मामले के अनुसंधान के दौरान उक्त कामयाबी मिली. उन्होंने बताया कि इस गिरोह का सरगना राजेंद्र महतो है. बता दें कि विस्थापित नेता ने विस्थापित आंदोलन के नाम पर आत्मदाह का भी प्रयास कर चुके हैं. हाल ही में उन्होंने माता के जागरण के नाम पर खेसारी लाल यादव का कार्यक्रम  आयोजित कराया था.




एसपी ने बताया कि राजेंद्र महतो चिरा चास निवासी राजीव कुमार यादव और साथ में रहने वाले सूरज महतो सहित तीन-चार अन्य लोगों के साथ मिलकर नौकरी के नाम पर ठगी का रैकेट चलाया करता था. पुलिस ने सौरभ श्रीवास्तव से नौकरी के नाम पर ठगी के मामले में प्राथमिक अभियुक्त राजीव कुमार यादव के साथ-साथ राजेंद्र महतो और सूरज महतो को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. उक्त सभी लोगों के पास से बोकारो स्टील प्लांट के कार्मिक विभाग से संबंधित दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं.

एसपी ने बताया कि इस मामले में सेक्टर 9 निवासी लव कुमार, नवीन कुमार सिंह, वर्धमान पश्चिम बंगाल निवासी सुभाष चंद्र, प्रकाश पासवान, उत्तर प्रदेश के रहने वाले पिंकू श्रीवास्तव फरार हैं. पुलिस इनकी गिरफ्तारी की प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि इस बड़े गिरोह के गोरखधंधे के पीछे और भी कई लोगों को  शामिल हो सकते हैं.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat