ढाई करोड़ की घटिया सड़क, सवालों के घेरे में अधिकारी!

रांची : लगभग ढाई करोड़ की लागत से रांची की वीवीआईपी सड़क बनाई गई. मौका था प्रधानमंत्री की रांची यात्रा का, मगर तकनीकी दृष्टि से देखें तो इस सड़क को बहुत ही लापरवाही से बनाया गया है. बिरसा चौक से प्रोजेक्ट भवन तक की सड़क पर वाहन से चले तो कंपन यानी एंडुलेन्स साफ महसूस किया जा सकता है.

अभी हाल ही में प्रधानमंत्री के रांची दौरे के दौरान ही लगभग ढाई करोड़ का टेंडर निकाल कर सड़क बनवाई गई थी. बिरसा चौक से झारखंड मंत्रालय द्वार तक बनी इस सड़क पर चलते हुए आपको कंपन साफ महसूस होगा.




सड़क पर चलने से होता है कंपन का महसूस

ढाई करोड़ की लागत से बनी सड़क पर चलने से कंपन क्यों होगा. यह एक बड़ा सवाल है. हालांकि आम लोग भी इस सड़क पर चलते हैं उनको भी कंपन महसूस होता है. मगर यह एक तकनीकी मामला है जिसकी जांच की जानी चाहिए. वैसे कंपन तो इस सड़क पर चलने वाला हर चालक महसूस करता है.

आनन-फानन में बनी सड़क

आजकल की सड़कें उच्च तकनीक मशीनों के सहारे बनाई जाती हैं. सवाल यह है कि सड़क जरूर आनन-फानन में बनी मगर इसकी जांच किस अधिकारी ने की. क्या उन अधिकारियों को सड़क पर चलते वक्त कंपन महसूस नहीं हुआ, जिसे रोड कंस्ट्रक्शन की भाषा में एंडुलेन्स कहा जाता है.





Loading...
WhatsApp chat Live Chat