शातिर साइबर अपराधी समीर मंडल गिरफ्तार, रांची के लोगों को बनता था अपना शिकार

जामताड़ा : शातिर साइबर अपराधी समीर मंडल को पुलिस ने मंगलवार देर रात्री छापामारी कर उसके ही घर पाकडिह मुहल्ले से गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तार अभियुक्त के पास से पुलिस ने दो एटीएम कार्ड, दो मोबाइल और एक चारपहिया वाहन टाटा नेक्सॉन बरामद किया है. मामले में एसपी शैलेंद्र कुमार सिन्हा ने प्रेस वार्ता कर बताया कि समीर मंडल की गिरफ्तारी के लिए साइबर डीएसपी के नेतृत्व में टीम गठित की गई थी. टीम गठित कर उसे गिरफ्तार किया गया है. उसने इस बात को स्वीकार किया है  कि वे साइबर अपराध की घटना को अंजाम देता था. लोगों से बैंक अधिकारी बन कर बात करता था और उसके बाद उसके खाते से पैसा उड़ाने का काम करता था. उन्होंनें बताया कि साइबर अभियुक्त मुख्य रूप से नारायणपुर थाना क्षेत्र के गोलपहारी का रहने वाला है.

कौन है समीर मंडल

समीर मंडल साइबर दुनिया का उभरता हुआ मास्टर माइंड है, जो रांची के लोगों को अपना शिकार बनाता था. जिसे चार भाषा हिंदी, बांगला, खोरठा और आदिवासी का ज्ञान है. नारायणपुर से आकर इसने जामताड़ा थाना क्षेत्र के पाकडिह मुहल्ले में जमीन खरीद कर आलिसान मकान बनाया. जिसकी लागत करीब 50 लाख रूपया होगी. इसे लग्जरी वाहनो का भी शौक है.




अपराध की दुनिया में कैसे आया समीर

ऐसा नहीं है कि समीर शुरू से ही साइबर अपराध की दुनिया में है. समीर को साइबर अपराध की दुनिया में लाने वाले उसके रिश्तेदार हैं. जब उसने अपने रिश्तेदार की आलिसान जिंदगी को देखा तो उसका भी मन साइबर अपराध की ओर खिचंता चला गया. जब उसने अपने रिश्तेदार के पास कम समय में आलिशान मकान और लग्जरी वाहन देखा तो उसने इसी को अपना धंधा बना लिया. आज उसने साइबर अपराध की घटना को अंजाम देकर लाखों की संपत्ति बनाने का काम किया.

छापामारी टीम में शामिल पदाधिकारी

छापामारी दल में साइबर डीएसपी सुमीत कुमार, पुलिस निरीक्षक रविन्द्र कुमार सिंह, पुलिस अधिकारी मोहन राम, पिंकी कुमारी, शिवानी देवी, चनावती देवी, गौतम कुमार सिंह, रविन्द्र ठाकुर, रंजीत दास, सागर दास, राजेष कुमार, सुधीर पासवान, संजय मुर्म, सुखदेव मंडल, अमित कुमार, विपरन कुमार आदि शामिल थे.



Loading...
WhatsApp chat Live Chat